Representational Image : Sugar

Share Market: बाजार में गिरावट, निफ्टी ने तोड़ा 17300 का स्तर, सेंसेक्स भी लुढ़का

Nifty 50: अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (IMF) ने कैलेंडर वर्ष 2023 में वैश्विक आर्थिक वृद्धि के लिए अपने पूर्वानुमान को एक बार फिर घटाते हुए कहा है कि 2026 तक विश्व अर्थव्यवस्था में चार लाख करोड़ डॉलर तक की गिरावट आ सकती है.

alt

6

alt

4

alt

5

alt

4

Share Market: बाजार में गिरावट, निफ्टी ने तोड़ा 17300 का स्तर, सेंसेक्स भी लुढ़का

Sensex Today: पिछले कुछ दिनों से शेयर बाजार (Share Market) में तेजी का माहौल बना हुआ था. वहीं शुक्रवार 7 अक्टूबर 2022 को बाजार गिरावट के साथ खुला है. इस बीच निफ्टी ने 17300 का स्तर भी तोड़ दिया है तो वहीं सेंसेक्स में भी गिरावट दर्ज की गई है. सेंसेक्स 58100 के स्तर के नीचे खुला है. वहीं बीते दिन रुपया भी अपने अब तक के निचले स्तर पर पहुंच गया है. इसके अलावा IMF के जरिए वैश्विक आर्थिक वृद्धि के लिए अपने पूर्वानुमान को एक बार फिर घटाया गया है.

गिरावट के साथ खुला बाजार

कारोबारी हफ्ते के आखिरी दिन भारतीय शेयर बाजार में गिरावट देखने को मिली है. निफ्टी ने जहां 17300 के स्तर को तोड़कर 17287.20 अंक पर ओपनिंग दी है तो वहीं सेंसेक्स ने 58100 का स्तर तोड़ते हुए 58092.56 के स्तर पर ओपनिंग दी है. सेंसेक्स 129.54 अंक और निफ्टी ने 44.60 अंक की गिरावट के साथ खुले हैं.

टॉप गेनर्स और लूजर्स

शुरुआती कारोबार में टॉप गेनर्स में Titan Company, Hero Motocorp, Apollo Hospital, Bajaj Auto और Maruti Suzuki शामिल हैं. वहीं टॉप लूजर्स में BPCL, IndusInd Bank, Tata Motors, ICICI Bank और Hindalco शामिल है.

वैश्विक आर्थिक वृद्धि पूर्वानुमान

वहीं अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (IMF) ने कैलेंडर वर्ष 2023 में वैश्विक आर्थिक वृद्धि के लिए अपने पूर्वानुमान को एक बार फिर घटाते हुए कहा है कि 2026 तक विश्व अर्थव्यवस्था में चार लाख करोड़ डॉलर तक की गिरावट आ सकती है. आईएमएफ की प्रबंध निदेशक क्रिस्टलीना जॉर्जिवा ने जॉर्जटाउन विश्वविद्यालय में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए वैश्विक आर्थिक वृद्धि में गिरावट की आशंका जताई. उन्होंने कहा, ‘‘चीजों के बेहतर होने के पहले और खराब होने की आशंका अधिक दिख रही है.’’

रुपये में गिरावट

वहीं कच्चे तेल की कीमतों और डॉलर सूचकांक में मजबूती से अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले रुपया गुरुवार को 55 पैसे गिरकर 82.17 प्रति डॉलर के सर्वकालिक निचले स्तर पर पहुंच गया. भारतीय मुद्रा डॉलर की तुलना में पहली बार 82 प्रति डॉलर के मनोवैज्ञानिक स्तर से नीचे बंद हुई. तेल आयातकों की भारी डॉलर की मांग और ब्याज दरों में बढ़ोतरी की बढ़ती आशंकाओं का भी स्थानीय मुद्रा पर असर पड़ा.

शेयर शेयर बाजार में गिरावट बाजारः April के बाद Sensex में सबसे बड़ी गिरावट,nifty में भी चौतरफा बिकवाली

मार्केट एनालिस्ट विदेशी संस्थागत निवेशक (FIIs) द्वारा बाजार में लगातार बिकवाली को गिरावट की बड़ी वजह बता रहे हैं.

शेयर बाजारः April के बाद Sensex में सबसे बड़ी गिरावट,nifty में भी चौतरफा बिकवाली

Share Market News: मंथली और वीकली एक्सपायरी वाले दिन गुरुवार 28 अक्टूबर को भारतीय शेयर बाजार(Stock Market) में भारी गिरावट देखने को मिली. BSE सेंसेक्स 1158 अंक गिरकर 60,000 के नीचे 59,984 पर बंद हुआ. सेंसेक्स में अप्रैल के बाद ये सबसे बड़ी गिरावट है. NSE निफ्टी (Nifty) भी 1.94% या 354 अंक की कमजोरी के साथ 17,857 पर क्लोज हुआ. बाजार में हर तरफ भारी बिकवाली देखी गई.

छोटे और मझोले शेयरों में भी बिकवाली का दबाव रहा. निफ्टी स्मॉलकैप 100 और मिडकैप 100 करीब 2% टूटे.

बाजार में गिरावट की क्या रही वजह-

बाजार के महंगे वैल्यूएशन की बात किसी से छिपी नहीं है. रिटेल इन्वेस्टर और बाजार में लिक्विडिटी के बदौलत इस साल अब तक सेंसेक्स और निफ्टी करीब 25% चढ़ चुके हैं.

मार्केट एनालिस्ट विदेशी संस्थागत निवेशक (FIIs) द्वारा भारतीय बाजार में लगातार बिकवाली को गिरावट की बड़ी वजह बता रहे हैं. एक्सपेंसिव वैल्यूएशन के कारण मॉर्गन स्टेनले (Morgan Stanley) ने भी भारतीय इक्विटी के रेटिंग को डाउनग्रेड किया.

हम बाजार में पहला बड़ा करेक्शन देख रहे हैं, जहां निफ्टी अपने 20-DMA से नीचे फिसल गया है, जिसने आगे और गिरावट के लिए दरवाजा खोल दिया है, जहां बढ़ता 50-DMA अगला सपोर्ट स्तर होगा जो 17650 के स्तर के आसपास है. उसके भी नीचे 17450-17250 का लेवल इंडेक्स के लिए सपोर्ट जोन होगा.

हाई वैल्यूएशन गिरावट की बड़ी वजह-

उन्होंने मार्केट के हाई वैल्यूएशन को गिरावट की मुख्य वजह बताते हुए कहा कि- "बाजार के महँगे मूल्यांकन के अलवा महंगाई और वैश्विक विकास की गति में मंदी अन्य चिंताएँ हैं. कुछ देशों में ताजा कोविड के मामलों में वृद्धि भी निवेशकों के मूड को खराब कर रही है. हम एक स्ट्रक्चरल बुल मार्केट में हैं जहां इंटरमीडिएट करेक्शन इस यात्रा का हिस्सा होंगे और इस प्रकार के करेक्शन के दौरान क्वालिटी स्टॉक्स में खरीदारी के अच्छे अवसर बन सकते हैं."

Stock Market: :शेयर बाजार की गिरावट के साथ हुई शुरुआत, सेंसेक्स 292 अंक हुआ कम

Stock Market

Stock Market: घरेलू शेयर बाजार की बात करें तो शुरुआत मंगलवार को गिरावट के साथ हो गई है। सेंसेक्स 292.95 अंक (0.47 फीसदी) टूटकर 62541 के स्तर पर खुल गया है। वहीं, निफ्टी ने 83.50 अंक (0.45 फीसदी) की गिरावट के साथ 18617.50 के स्तर पर कारोबार की शुरुआत हो चुकी है। सुबह 9.20 बजे सेंसेक्स 331 अंक (0.53 फीसदी) गिरकर 62503 और निफ्टी 79.65 अंक (0.43 फीसदी) टूटकर 18621 पर ट्रेड किया जा रहा हुई। गौरतलब है कि सोमवार को बाजार गिरावट के साथ ही बंद हुआ था.

सेंसेक्स सोमवार रको 33.90 अंक (शेयर बाजार में गिरावट 0.05 फीसदी) की गिरावट के साथ 62,834.60 के स्तर पर बंद हुआ था. वहीं, निफ्टी ने 4.90 अंक (0.03 फीसदी) गिरकर कारोबार बंद किया था. इससे पिछले हफ्ते कारोबार हफ्ते के आखिरी दिन दोनों सूचकांक तेज गिरावट के साथ बंद हुए थे.

कौन से स्टॉक्स करवा रहे कमाई

आज के कारोबार में निफ्टी पर एसबीआई लाइफ (1.30 फीसदी), इंडसइंड बैंक (0.66), एचडीएफसी लाइफ (0.56), एक्सिस बैंक (0.41) और अडानी एंटरप्राइजेज (0.37) सर्वाधिक लाभ वाले शेयरों में शामिल हैं. दूसरी ओर हिंडाल्को (-1.80), एचसीएल टेक (-1.32), टाटा स्टील (-1.25), ओएनजीसी (-1.04) और इन्फोसिस (0.98) निवेशकों का पैसा डुबाने में सबसे आगे हैं. किसी शेयर बाजार में गिरावट भी सेक्टर का इंडेक्स फिलहाल हरे निशान में नहीं है. निफ्टी आईटी 1 फीसदी से अधिक टूटा हुआ है. मेटल 0.72 फीसदी, बैंक, 0.23 फीसदी, ऑटो 0.38 फीसदी और एफएमसीडी 0.19 फीसदी की गिरावट के साथ ट्रेड कर रहे हैं।

शेयर बाजार अपडेट: बाजार में गिरावट, लेकिन चीनी शेयरों में तेजी

sugar

Representational Image : Sugar

नई दिल्ली: बुधवार को शेयर बाजार गिरावट के साथ शुरू हुआ, लेकिन सुबह 10:55 बजे चीनी स्टॉक उच्च स्तर पर कारोबार कर रहे थे। विश्वराज शुगर इंडस्ट्रीज (6.16% ऊपर), उगार शुगर वर्क्स (5.04% ऊपर), अवधशुगर (4.69% ऊपर), सिंभावली शुगर्स (4.46% ऊपर), मवाना शुगर्स (4.15% ऊपर), द्वारिकेश शुगर इंडस्ट्रीज (3.49% ऊपर), कोठारी शुगर्स एंड केमिकल्स (3.45% ऊपर), डालमिया भारत शुगर एंड इंडस्ट्रीज (3.34% ऊपर), धामपुर शुगर मिल्स (3.34% ऊपर) और श्री रेणुका शुगर्स (3.19%) शीर्ष लाभार्थियों में से थे। शक्ति शुगर्स (1.03% नीचे), पोन्नी शुगर्स (इरोड) (0.66% नीचे), धरानी शुगर्स एंड केमिकल्स (0.30% नीचे) और ईआईडी पैरी (0.24% नीचे) गिरने वाले शेयरों में शामिल थे।

एनएसई निफ्टी 50 इंडेक्स 217.35 अंक नीचे 16576.55 पर कारोबार कर रहा था, जबकि 30 शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 867.79 अंक नीचे 55379.49 पर सुबह करीब 10:55 पर कारोबार कर रहा था। कोल इंडिया (7.08% ऊपर), हिंडाल्को इंडस्ट्रीज (6.27% ऊपर), टाटा स्टील (5.67% ऊपर), यूपीएल लिमिटेड (3.26% ऊपर), ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉर्पोरेशन (3.24% ऊपर), जेएसडब्ल्यू स्टील (2.1%) ऊपर , एसबीआई लाइफ (2.0% ऊपर), टाइटन कंपनी लिमिटेड (1.87 फीसदी ऊपर), महिंद्रा एंड महिंद्रा (1.42 फीसदी ऊपर) और अदानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन (1.06 फीसदी ऊपर) निफ्टी पैक में शीर्ष लाभार्थियों में से थे।

दूसरी ओर, मारुति सुजुकी (4.13 फीसदी नीचे), आईसीआईसीआई बैंक (4.03 फीसदी नीचे), एशियन पेंट्स (3.79% नीचे), एचडीएफसी बैंक (3.65% नीचे), बजाज ऑटो (3.64% नीचे), हीरो मोटोकॉर्प (3.12 नीचे) %), कोटक महिंद्रा बैंक (2.97% नीचे), बजाज फाइनेंस (2.64% नीचे), HDFC (2.58% नीचे) और इंडसइंड बैंक (2.47%) लाल निशान में कारोबार कर रहे थे।

RIL भी नहीं रोक सकी Share Market की गिरावट, दो दिनों में निवेशकों को हुआ 6 लाख करोड़ रुपए का नुकसान

RIL also could not stop stock market decline, investors lost Rs 6 lakh crore in two days ssa

बिजनेस डेस्क। बीते दो दिनों में शेयर बाजार में बड़ी गिरावट देखने को मिली है। सोमवार और शेयर बाजार में गिरावट मंगलवार को सेंसेक्स में करीब 1900 अंकों की गिरावट आई है। जिसकी वजह से शेयर बाजार निवेशकों को 6 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान देखने को मिल चुका है। ताज्जुब की बात तो ये है कि रिलायंस के शेयरों में करीब 4 फीसदी की तेजी के साथ बंद हुआ है उसके बाद भी बाजार में गिरावट को नहीं रोक सकी। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर शेयर बाजार में किस तरह के आंकड़ें देखने को मिल रहे हैं।

शेयर बाजार में गिरावट
मंगलवार को शेयर बाजार में गिरावट देखने को मिली है। लगातार दूसरे दिन शेयर बाजार का प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 703 अंकों की गिरावट के साथ 56,463.15 अंकों पर बंद हुआ। जबकि आज कारोबारी सत्र के दौरान 57,464.08 अंकों के साथ सेंसेक्स दिन की उंचाई पर पहुंचा। जबकि आज सेंसेक्स 57,381.77 अंकों पर ओपन हुआ था। वहीं दूसरी ओर नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख सूचकांक निफ्टी में 215 अंकों की गिरावट देखने को मिली है। जिसके बाद निफ्टी 17 हजार अंकों से नीचे 16,958.65 अंकों पर बंद हुआ है। जबकि 17,258.95 अंकों पर ओपन हुआ था और 17,275.65 अंकों के साथ दिन के हाई पर पहुंचा था।

रिलायंस भी बचा सका शेयर बाजार
वहीं दूसरी ओर आज बीएसई पर रिलायंस के शेयरों मतें अच्छी तेजी देखने को मिली, उसके बाद भी शेयर बाजार गिरावट के साथ बंद हुआ। बाजार बंद होने तक रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में 3.71 फीसदी की तेजी देखने को मिली है। जबकि कारोबारी सत्र के दौरान करीब 5 फीसदी की तेजी के साथ कारोबार करता हुआ दिखाई। वहीं आईसीआईसीआई बैंक, एसबीआई और बजाज फाइनेंस के शेयर हरे निशान पर बंद हुए।

इन शेयरों में आई बड़ी गिरावट
वहीं दूसरी ओर एचडीएफसी ट्विन्स में बड़ी गिरावट देखने को मिली है। एचडीएफसी में 5.50 फीसदी, एचडीएफसी बैंक के शेयरों में 3.73 फीसदी, इंफोसिस 3.55 फीसदी, टेक महिंद्रा, नेस्ले इंडिया और आईटीसी के शेयरों में 3 फीसदी से ज्यादा की गिरावट देखने को मिली है। आपको बता दें कि 30 शेयरों वाले बीएसई में 26 शेयरों में गिरावट देखने को मिली है। जिसकी वजह से शेयर बाजार में गिरावट देखने को मिली है।

दो दिनों में बाजार में आई बड़ी गिरावट
अगर बीते दो दिनों की करें तो इन दो दिनों में शेयर बाजार में बड़ी गिरावट देखने को मिल चुकी है। आंकड़ों के अनुसार सोमवार और मंगलवार की गिरावट को मिलाकर सेंसेक्स 1875.78 अंकों तक नीचे आ चुका है। जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख सूचकांक निफ्टी 50 517 अंकों तक नीचे आ चुका है। जानकारों की मानें तो कोविड के बढ़ते मामलों की वजह से शेयर बाजार में और भी गिरावट देखने को मिल सकती है।

बाजार निवेशकों को हुआ मोटा नुकसान
वहीं दूसरी ओर बाजार निवेशकों को भी मोटा नुकसान हुआ है। सोमवार और मंगलवार के नुकसान को मिला दिया जाए तो निवेशकों को 6 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान हुआ हैै। आंकड़ों के अनुसार शुक्रवार को जब बाजार बंद हुआ था तो शेयर बाजार में गिरावट बीएसई का मार्केट कैप 26944207.98 करोड़ रुपए था, जो आज कम होकर 26552845.81 करोड़ रुपए पर आ गया है। जोकि इन दो दिनों में 600335.12 करोड़ रुपए कम हो चुका है। यही बाजार निवेशकों का नुकसान है।

रेटिंग: 4.30
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 197